मेडिकल एग्जाम के पेपर नहीं हुए लीक, वायरल प्रश्नपत्र पर केरल पुलिस की सफाई

केरल पुलिस ने सफाई दी है कि विदेशी मेडिकल ग्रेजुएट परीक्षा (FMGE) के पेपर लीक नहीं हुए हैं. सोशल मीडिया पर प्रश्नपत्र और उत्तर कुंजी की बिक्री की घोषणा करने के दावे के बाद तिरुवनंतपुरम पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज किया है.अब पुलिस की ओर से कहा गया है कि अभी तक ऐसा कोई सबूत नहीं मिला है जिससे पता चले कि पेपर लीक हुए हैं.पुलिस ने बयान जारी कर कहा है कि जो लोग FMGE परीक्षा में शामिल हो रहे हैं, उन्हें सतर्क रहना चाहिए. वे पैसे के लेन-देन के लिए इस तरह की धोखाधड़ी का शिकार न बनें. साइबर पुलिस चौबीसों घंटे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नजर रख रही है और प्रतियोगी परीक्षाओं को विफल करने की कोशिश करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.6 जुलाई को आयोजित होने वाली FMGE परीक्षा भारतीय नागरिकों या भारत के विदेशी नागरिकों के लिए आयोजित की जाती है, जिनके पास किसी विदेशी विश्वविद्यालय से मेडिकल की डिग्री है, ताकि वे अनिवार्य मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया पंजीकरण प्राप्त कर सकें.

छह जुलाई को होने वाली है परीक्षा

एफएमजीई परीक्षा जून में आयोजित होने वाली थी, लेकिन इसे 6 जुलाई तक के लिए टाल दिया गया था. गुरुवार को टेलीग्राम ऐप पर कुछ लोगों ने दावा किया था कि FMGE प्रश्नपत्र और उत्तर बिक्री के लिए उपलब्ध हैं.उसके बाद गुरुवार को साइबर सेल ने सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों की रोकथाम) अधिनियम, 2024 के तहत मामला दर्ज किया था. केंद्र सरकार ने परीक्षाओं में गड़बड़ी रोकने के लिए यह कानून बनाया था. पहली बार इस अधिनियम के तहत मामला दायर किया गया था.

नीट-यूजी पेपर लीक पर मचा है हंगामा

पूरे देश में नीट-यूजी के पेपर लीक होने के मामले में हंगामा मचा हुआ है. ऐसे में विदेशी चिकित्सा स्नातक परीक्षा (FMGE) को लेकर दावों के बाद केरल पुलिस ने कड़ी कार्रवाई की है.तिरुवनंतपुरम सिटी साइबर क्राइम पुलिस ने कहा कि इस तरह की धोखाधड़ी का पता लगाने के प्रयासों के तहत, इसके साइबर डिवीजन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर 24×7 साइबर पेट्रोलिंग शुरू कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *